सोमवार, मई 30, 2005

बंटी और बबली (Bunty aur Babli)


bb
Originally uploaded by Raman B.


भाई मजा आ गया ये फिल्म देखकर .. बहुत ही बढ़िया कामेडी .. चुस्त, तेज‍तरार्र बहुत ही बढ़िया डायलाग्स .. बहुत बढ़िया गाने .. बहुत ही अथेंटिक लोकेशन्स .. बहुत बढ़िया अभिनय ... कुल मिला के सब कुछ बहुतै बढ़िया... एकदम टोटल टाईमपास ..

फिल्म के काफी हिस्से की शूटिंग कानपुर लखनऊ और यूपी के दूसरे शहरों में हुई है .. जाहिर है यूपी वालों को और भी मजा आयेगा.. फिल्म की प्रस्तुति में नयापन लगता है.. डायलाग्स यूपी में आमतौर पर बोली जाने वाली भाषा की तरह ही लगते हैं .. जाहिर है कि यूपी के छोटे कस्बे में पले बढ़े होने की वजह से मुझे फिल्म के इस हिस्से में बहुत ही मजा आया ..

फिल्म की कहानी मि. नटवरलाल, Bonnie And Clyde और Catch Me If You Can जैसी फिल्मों की तरह है. फिल्म बहुत ही फास्ट पेस्ड है और चुस्त है.. पटकथा कहीं पर भी बोझिल नहीं होती.

जरूर ये फिल्म देखें और मजा पाईये. आप चाहें तो रीडिफ पर पूरी समीक्षा यहां देख सकते हैं.

Comments:
अब तो लगता है देखना पड़ेगा ई सिनेमा।
 
Bhai,
badi achchhi reporting hai....
..film-samiksha hi ho gai hai achchhi- khasi.Achchha laga aapko padhna...

-Sanjay Vidrohi
 
हम जैसे यूपी वालों को कई छोटी-छोटी बातें इस िफल्‍म में खलती हैं। जैसेकि लखनऊ में लोग इलाहबादी बोली का इस्‍तेमाल करते हैं।
 
hi this is Kiran from Udaipur(India)..

my dear friend you are doing a good job but you can also earn money by your writing for your blog.
Isn't it right, money from your hobby. You will display google ads on your blog and Google pays you when somebody comes to your site and click on your ads.
Isn't it so excited..
I have created a blog called "Truth India" and I am displaying Google Ads on it. and earning money..
you can also join Google Adsense from my site http://truthindia.blogspot.com from top right corner.

bye
----

http://truthindia.blogspot.com
 
आ गया पटाखा हिन्दी का
अब देख धमाका हिन्दी का
दुनिया में कहीं भी रहनेवाला
खुद को भारतीय कहने वाला
ये हिन्दी है अपनी भाषा
जान है अपनी ना कोई तमाशा
जाओ जहाँ भी साथ ले जाओ
है यही गुजारिश है यही आशा ।
NishikantWorld
 
आप सभी का हिन्दी साहित्य संकलन की ओर से स्वागत है ।

आप अपनी या किसी अन्य की कवितायें यहां निःशुल्क प्रकशित कर सकतें है । कॄपया वेबसाईट http://www.hindisahitya.org पर क्लिक करे और विस्तृत जानकारी प्राप्त करे ।



हिन्दी सेवा में समर्पित

http://www.hindisahitya.org
 
बहुत खूब...
Fashion Photography India
 
एक टिप्पणी भेजें

Links to this post:

एक लिंक बनाएँ



<< Home

This page is powered by Blogger. Isn't yours?